क़ाबिल हाथों में भविष्य सुरक्षित का दम्भ भरने वाला ही महिलाओं के लिए बना ख़तरा

क़ाबिल हाथों में भविष्य सुरक्षित का दम्भ भरने वाला ही महिलाओं के लिए बना ख़तरा

108 views
1

जयपुर. राजस्थान सरकार ने महिलाओं से होने वाली अभद्रता और उन पर किसी भी तरह की हिंसा के लिए हर सख्त कदम उठाए हैं. महिलाओं के साथ अभद्रता और अपराध करने वालों पर तुरंत एक्शन भी लेने को कहा है लेकिन लगता है ​खुद कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी ही सरकार की इस मंशा को समझ नहीं पा रहे हैं और महिलाओं के साथ अभद्रता में पीछे नहीं है. ऐसा ही ताजा मामला राजधानी जयपुर में सामने आया है, जहां जयपुर शहर कांग्रेस के पदाधिकारी साहिल सरदाना के खिलाफ मुहाना पुलिस थाने में एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई गई है. शिकायत में पीडिता ने साफ लिखा है कि साहिल सरदाना आए दिन दुर्व्यवहार करता है, उधारी लेकर सामान लेता है लेकिन पैसा नहीं देता,,,,अर्बना सोसायटी के लिए कैफे चलाने वाली पीडित का कहना है कि जब भी उसको सयंमित व्यवहार या उधारी पैसे चुकाने को कहा तो मारपीट तक पर उतारु हो जाता है और देख लेने, बदला लेने, बुरे अंजाम भुगतने की धमकियां देेता है, गाली गलौज करता है. सोसायटी की अन्य महिलाएं भी साहिल सरदाना की अभद्रता से परेशान हैं. स्थानीय लोगों से मिले फीडबैक के मुताबिक साहिल सरदाना चूंकि पहले कांग्रेस के टिकट पर जयपुर के मानसरोवर क्षेत्र से वार्ड पार्षद का चुनाव भी लड चुका है और अभी सरकार में प्रमुख पद पर बैठे एक राज्य मंत्री का करीबी बताकर लोगों को धमकाता है. हालांकि कांग्रेस के कई स्थानीय नेता भी साहिल सरदाना की हरकतों से वाकिफ हैं. पहलेें भी क्षेत्र के लोगों से पैसे के लेनदेने से जुडे विवादों को लेकर चर्चा में रहा है. इसके अलावा जिस अर्बना सोसायटी में रहता है वहां के लोगों को भी आए नए नए विवाद पैदा कर विवादास्पद और अशांति का माहौल पैदा करता है. राजधानी जयपुर की मुहाना थाना पुलिस भी साहिल सरदाना को उसकी ऐसी हरकतों पर लगाम कसने के लिए वॉर्न कर चुकी है. उधर खुद कांग्रेस के नेता ही अब साहिल सरदाना के इस व्यवहार के खिलाफ वरिष्ठ नेताओं से तुरंत कार्रवाई की मांग कर रहे हैं उनका कहना है कि इस तरह लोगों को पार्टी में पदाधिकारी के पद पर रखना पार्टी की छवी को नुकसान पहुंचाना होगा. निकाय चुनावों में भी इसका खमियाजा भुगतना पडेगा. कई बार सोसायटी में रहने वाले लोगों और अर्बना प्रबंधन ने भी साहिल को अशांति न फैलाने, लोगों से बेवजह विवाद ना करने और महिलाओं के साथ अच्छे व्यवहार से पेश आने का आग्रह भी कर चुके हैं लेकिन सब ढाक के तीन पात साबित हुआ….
बहरहाल देखना होगा पुलिस की सख्ती और पार्टी कांग्रेस नेता साहिल सरदाना के खिलाफ ज​नहित में क्या फैसला लेती है.

About author

Your email address will not be published. Required fields are marked *