झिलमिलाती पतंगे एक अहसास – अनु सिंघवी

झिलमिलाती पतंगे एक अहसास – अनु सिंघवी

25 views
0

जयपुर – आई शाइन विद लव एण्ड लाइट आर्ट पर्फोमेन्स अलंकृति पतंगो का कुछ छिपी हुई सच्चाइयों का मिक्स मीडिया लाइट एण्ड साउण्ड इंस्टॉलेशन्स मूर्तिकला वीडियो आर्ट प्रदर्शनी का 16 दिसंबर जवाहर कला केंद्र में आयोजित होने वाले शो के बारे में अनु सिंघवी ने बताया जवाहर कला केंद्र के कृष्णायन शाम 4 बजे आयोजित शो 45 मिनट का होगा और यह प्रदर्शनी एक अनूठे तरीके से आयोजित होगी |
इसमे रेशम और रत्नों का आधुनिक समागम होगा वीडियो आर्ट की अनूठी पेशकश पॉजिटिव नेगेटिव इमोशन्स रत्नजड़ित मुर्तिया स्कल्पचरस आफ सेंटिमेशन के माध्यम से प्रदर्शित होंगे दर्शको को वीडियो आर्ट के माध्यम से एक्सप्रेस करने का मौका भी मिलेगा इस मौके पर आर्टिस्ट कथक नृत्यांगना झंकृति जैन शिष्या प्रसिद्ध कथक गुरु डॉ शशि सांखला के साथ मिलकर पोइट्री विंड लाइट साउंड डान्स पर्फोमेन्स करेगी |
अनु सिंघवी ने झिलमिलाती पतंगे कविता के माध्यम से बताया
पतंगो का झुंड चमकता दमकता इठलाता चहुँ और
श्याम सिंदूरी रत्नजड़ित किशोरी सा आल्हादित अठखेलियाँ खाता हुआ मत भेदों को चीरता क्रोध कोप घमण्ड घृणा को हराता
अंधेरा देख पाने पर ही उजाले के गुण समझ सकते है जैसे रोशनी होने पर खुशी लहर दौड़ जाती है दिल उड़ाने भरने लगता है वही खुशी मिलती है जैसे पतंग रंजिशों को काटते हुए नीले आसमान में स्वच्छंद गुलाटियां मारा करती है मन की अलंकृत पतंगो के साथ अलोकोत्सव महसूस होता है
अनु सिंघवी ने आगे बताया समाज मे प्रसिद्ध व्यक्तियों को एक जीवंत पतंग रूप में मानना जो कि हमारी दुनिया को अपने हुनर से चमका देते है और मन को खुश कर देते है
कला प्रर्दशनी के माध्यम से लोगो के मन मे एक संवाद प्रेरित करना और परिवर्तन का साधन उजागर करने की कोशिश इस प्रदर्शनी का एक इंटरेक्टिव इंटालेशन्स आई शाइन विथ लव एण्ड लाइट के माध्यम से लोगों को स्पॉटलाइट में आने का मौका मिले उनके अन्दर छिपे स्वयं के रहस्यों को जानने का मौका मिले कला के माध्यम से काइट सेलेब्रिटीज़ की थीम से सचेत कर अपने अन्दर के सच को जानने की प्रेरणा दे सकूँ |

About author

Your email address will not be published. Required fields are marked *