प्रदेश में उच्च शिक्षा व महिला शिक्षा को बढावा देने के लिये राज्य सरकार द्वारा हरसंभव प्रयासरत – उच्च शिक्षा राज्य मंत्री

प्रदेश में उच्च शिक्षा व महिला शिक्षा को बढावा देने के लिये राज्य सरकार द्वारा हरसंभव प्रयासरत – उच्च शिक्षा राज्य मंत्री

5 views
0
जयपुर, ।  उच्च शिक्षा राज्य मंत्री  भंवर सिंह भाटी ने कहा कि राज्य में उच्च शिक्षा व महिला शिक्षा को बढावा देने के लिये राज्य सरकार द्वारा हरसंभव प्रयास किये जा रहे है। अपने पहले बजट में ही राज्य सरकार ने एक साथ 50 कालेज खोलकर ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को उच्च शिक्षा से जोडने का महत्वपूर्ण कार्य किया है। इसके साथ ही दौसा जिले को  एक साथ दो महिला कालेज बांदीकुई व सिकन्दरा की सौगात दी है।
 मीना ने दौसा मे मंगलवार को श्री संत सुन्दरदास राजकीय स्नातकोत्तर महिला महाविद्यालय में छात्रसंघ कार्यालय के उद्वघाटन समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि देश व प्रदेश के साथ हर क्षेत्र के सर्वागींण विकास के लिए शिक्षा जरूरी है । उन्होने कहा कि अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए युवा वर्ग सकारात्मक सोच के साथ आगे बढे। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राएं गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा व अच्छे संस्कारों से अपने जीवन में बडे़ से बडे़ लक्ष्य को अर्जित कर सकते है।
उच्च शिक्षा मंत्री राज्य छात्रसंघ पदाधिकारियों से कहा कि जीवन में राजनीति करने की प्रथम सीढी छात्रसंघ चुनाव से ही होती है। सभी पदाधिकारी सकारात्मक सोच के साथ कार्य करे ताकि  आने वाले समय में आपके कार्यकाल को याद रखें। इसके लिए कालेज प्रशासन से तालमेल रखते हुये महाविद्यालय में आवश्यक सुविधाओं का विस्तार करावे सभी छात्राओं व स्टाफ को नियमित रूप से  कालेज में  अपने वाचनालय, पुस्तकालय संचालन में सहयोग प्रदान करे। उन्हाेंने दौसा जिले में स्नातक स्तर पर अंग्रेजी, हिन्दी संकाय विषय अगले सत्र से प्रारंभ करने की घोषणा की तथा स्नातकोत्तर स्तर पर भूगोल संकाय राजनीति शास्त्र ,विज्ञान विषय के लिए बजट घोषणा में प्रावधान रखने का पूरा-पूरा भरोसा दिलाया ।
 उन्होने जिले में चिकित्सा, शिक्षा, विद्युत सुधार व शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के लिये किये जा रहे प्रयासों पर स्थानीय विधायक की सराहना की । उन्होंने सरकार द्वारा एक वर्ष की अवधि में अर्जित उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि एक वर्ष के दौरान शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश में अनेक उल्लेखनीय कार्य किये गये है तथा आने वाले वर्षो में प्रदेश के सभी उपखण्ड मुख्यालयों पर सरकारी कालेज खोले जायेंगे।
समारोह की अध्यक्षता करते हुये दौसा विधायक श्री मुरारी लाल मीना ने कहा कि बालिका शिक्षा से दो परिवारों का विकास होता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के साथ साथ आमजन के स्वास्थ्य में भी सुधार आने लगा है। विधायक ने उच्च शिक्षा मंत्री से नांगल राजावतान व लवाण में सरकारी कालेज खोलने की मांग की। उन्हाेंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में राजनीति नहीं करनी चाहिये । कुछ राजनीतिक कारणों से दौसा के बडें कालेज को दो भागों में बांटने का काम किया है। जिसमें कला संकाय को शहर से 6 किमी दूर ले जाने का प्रस्ताव है लेकिन अध्ययनरत 8 हजार छात्राें के लिये वहां प्रर्याप्त व्यवस्थायें नहीं हैं। उन्होंने मंत्री से मांग की है कि दौसा के बडे़ कालेज में कला, वाणिज्य व विज्ञान संकाय के लिये पर्याप्त व्यवस्थाओं को ध्यान में रखकर कला संकाय को अलग करने के प्रस्ताव को निरस्त किया जावे। उन्हाेंने कहा कि दौसा में स्नातकोत्तर स्तर पर छात्रों की मांग के अनुसार विषय खुलवाने की घोषणा करे , भवन व संसाधनों की कमी नहीं आने दी जायेगी।
 प्रारम्भ में महिला महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. संतोष गढवाल ने अतिथियों का स्वागत करते हुये कॉलेज का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया तथा महाविद्यालय में अन्य विषय खोलने की मांग रखी। इस अवसर पर श्री रामजी लाल ओढ ने कहा आज के परिवेश में युवा शक्ति में संस्कारों को बढावा देने की महति आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इस दौर में देश की युवाशक्ति आगे आकर उच्च शिक्षा व संस्कारों के बारे में चेतना जागृत करे। कार्यक्रम में छात्रसंघ अध्यक्ष काजल सैनी,उपाध्यक्ष अंजली शर्मा,महा सचिव दीक्षा शर्मा ,संयुक्त सचिव पायल शर्मा ने अपने अपने अंदाज में छात्रहितों को ध्यान में रखते हुये विषय संकाय खोलने, रास्ता चौडा करवा कर सडक निर्माण करवाने,कालेज में केंटीन खुलवाने तथा कमरों के निर्माण की मांग रखी।
About author

Your email address will not be published. Required fields are marked *