फोलो ट्रेफिक रूल्स, सेव योवर फ्यूचर

फोलो ट्रेफिक रूल्स, सेव योवर फ्यूचर

12 views
0

जयपुर । लव सेफ्टी, मेरी रूल्स, डाइवोर्स स्पीड, फोलो ट्रेफिक रूल्स, सेव योवर फ्यूचर जैसे श्लोगनों के साथ यातायात पुलिस एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के संयुक्त तत्वावधान में  रामबाग चैराहे पर यातायात जागरूकता का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त द्वितीय अजयपाल लाम्बा ने कहा कि जयपुर में सड़क दुर्घटना में इस वर्ष लगभग 650 लोगो की मृत्यु हो चुकी है एवं तीन हजार से साढे तीन हजार लोग सड़क दुर्घटना मे घायल हो जाते है एवं अपना सामान्य जीवन नहीं जी पाते है। इन दुर्घटनाओं से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन करें और यह अपने जेहन में बैठा ले की कभी भी जैब्रा लाईन क्राॅसिंग नहीं करें, ट्रेफिक पुलिसकर्मी को ईशारा करना पड़े ऐसी नोबत नहीं आये, अपनी लेन में चले, मोबाईल बात न करें, सीट बेल्ट व हेल्मेट का उपयोग करें, शराब पीकर वाहन नहीं चलाये एवं शराब पीये हुये ड्राईवर के साथ नहीं बैठें। श्री लाम्बा ने कहा कि सजग नागरिक होने के नाते यह सोचंे की यातायात नियमों का पालन करते हुये बिना किसी घटना के आप गंतव्य स्थान पर सुरक्षित पहुंच गये। जहां पुलिसकर्मी मौजूद होता है तो वहां यातायात नियमों की पालना ज्यादा होती है।
पुलिस उपायुक्त यातायात  राहुल प्रकाश ने कहा कि सड़क सुरक्षा को समझना एवं सड़क के नियमों की पालना करना बहुत ही आवश्यक है थोडी सी लापरवाही कितनी बड़ी सजा हो सकती है। आज इस कार्यक्रम में आप सभी यह सुनिष्चित करें की सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करेंगे इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं करेंगे। सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन कानून एवं पुलिस के भय से नहीं बल्कि अपने दिल से करें।
कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के क्षेत्रीय निदेषक  एस0पी0 भटनागर ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में भवानी निकेतन महिला पीजी महाविद्यालय, एस0एस0 जैन सुबोध आटोनाॅमस महाविद्यालय एवं लालबहादुर शास्त्री पीजी महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने बैनर, फ्लैक्स व हस्त निर्मित पोस्टर के द्वारा आमजन को जागरूक करने हेतु श्लोगन प्रदर्षित किये गये थे। इन श्लोगनों में-वाहन चलाते समय हेलमेट पहनें, गले व चेहरे की सुरक्षा का उपयोग करें। शराब पीकर वाहन ना चलायें। सर सलामत सब सलामत। सेफ्टी फस्र्ट, हेलमेट इज ए मस्ट, मत करो इतनी मस्ती, जिन्दगी नहीं है सस्ती। गुड सेमेरिटन अर्थात अच्छा मददगार- सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद करने में घबराये नहीं, मदद करने वाले व्यक्ति को पुलिस या अस्पताल द्वारा परेशान नहीं किया जायेगा। सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को तुरंत अस्पताल पंहुचाये ना कि वीडियो बनाये। अगर आप अपने बच्चों से करते है प्यार तो उन्हें यातायात नियमों की पूर्ण जानकारी दें। यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माने के अलावा तीन महीने के लिये ड्राइविंग लाइसेंस जब्त और निलंबित किया जायेगा जैसे जागरूकता संदेष प्रदर्शीत किये गये थे। इस कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों की पालना करने के लिए शपथ भी दिलायी गयी एवं भवानी निकेतन महाविद्यालय की छात्राओं ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से यातायात के नियमों का पालन करने का संदेश दिया।
कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त यातायात  ललित शर्मा, एसीपी आहद खान,  सुरेश चन्द, अमित सिंह, यातायात निरीक्षक  दिलीप सोनी,  श्रीपाल, उपनिरीक्षक श्रीमती इन्द्रा अहलावत एवं राजस्थान युवा बोर्ड के नरेन्द्र भूरिया सहित छात्र-छात्राऐं उपस्थित थे।

About author

Your email address will not be published. Required fields are marked *