रक्तदान जीवनदान के समान  – श्रम राज्य मंत्री

रक्तदान जीवनदान के समान  – श्रम राज्य मंत्री

5 views
0

जयपुर । श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि रक्तदान महादान की श्रेणी में आता है। जब व्यक्ति मौत के मुँह में होता है तब किसी के रक्तदान द्वारा उसे प्राण प्रदान किए जाते हैं इसलिए रक्तदान सभी का पुनीत कर्तव्य है। अतः रक्तदान को जीवनदान के समान है।

जूली रविवार को अलवर के रूपबास स्थित जगन्नाथ मंदिर के पास आयोजित रक्तदान शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेकर उपस्थित रक्तदाताआें को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि आज समाज में रक्तदान के प्रति जागरूकता को देखते हुए स्वस्थ समाज की कल्पना करना सहज हो गया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के इस दौर में अन्य गम्भीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों एवं दुर्घटनाग्रस्त जरूरतमंद मरीजों के लिए यह रक्तदान की बहुत आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इस शिविर से रक्तदान शिविर आयोजकों एवं रक्तदाताओंं को प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि समय-समय पर रक्तदान कर जरूरतमंदों को जीवनदान देने का पुनीत कार्य करें।

शिविर में 213 यूनिट रक्तदान करने पर आभार जताते हुए कहा कि इस भौतिक युग मानवता जीवित रखने हेतु सद्भाव एवं सहयोग अपरिहार्य है। इस अवसर पर स्थायी जनप्रतिनिधि संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

इस दौरान पूर्व विधायक राजेन्द्र गंडूरा, सरस डेयरी चेयरमैन बन्नाराम मीना, जिला उपभोक्ता संरक्षण मंच की सदस्य दीपशिखा मीना, योगेश मिश्रा, राजू पहलवान, प्रदीप आर्य, रामबहादुर तॅंवर, अनिल जैन, प्रकाश गंगावत, हिरेन्द्र शर्मा, प्रमेन्द्र शर्मा, रामजीलाल मीना, रिपू दमन, प्रशांत राजा, दशरथ सिंह, कविता यादव, प्रेम पटेल, विक्रम यादव, मुकेश सारवान, प्रितम सिंह, नारायण साईवाल, पुष्पेन्द्र धाबाई, जीत कौर सांगवान, प्रमोद आर्य, मानवेन्द्र सिंह, राकेश बैरवा, विश्राम मीना, जयराम पायलट, रमेश मीना सहित बडी संख्या में प्रबुद्ध नागरिक उपस्थित थे।

 

About author

Your email address will not be published. Required fields are marked *