स्वच्छता के प्रति जागरूक के साथ जरूरतमंदों की सेवा मे तत्पर जयपुर पुलिस

स्वच्छता के प्रति जागरूक के साथ जरूरतमंदों की सेवा मे तत्पर जयपुर पुलिस

26 views
0

जयपुर / लोकेश जैन   – पूरी दुनिया कोरोना विशव्यापी महामारी के कहर से झुझ रही है। इसी कड़ी में जयपुर कमिश्नरेट टीम के साथ यातायात पुलिस की भी कोरोना के खिलाफ जंग जारी है । जिला प्रशासन, पुलिस और चिकित्सा विभाग पूरी मुस्तेदी के साथ जुटा हुवा है। कोरोना के खिलाफ इस जंग में भामाशाहों, समाजसेवियों सहित आमजन का भी भरपूर सहियोग मिल रहा है। यही वजह है कि लॉक डाउन 4.0 मे आज राहत भी मिली है । कोरोना के कहर को रोकने के लिए देश मे भी लॉक डाउन किया गया है । कोरोना संकट  एक बड़े खतरे के रुप में आज सभी के सामने है ।

प्रशासन के सभी विभाग अपने अपने स्तर पर कोरोना को हराने कोशिशें कर रहे है, ताकि वायरस के संक्रमण से आमजन को सुरक्षित किया जा सके । इस महामारी के खिलाफ जंग  लड़ी जा रही है इस महामारी मे जिस तरह जात पात से ऊपर उठ कर चिकित्सकर्मी पुलिस विभाग सहयोग मे हर समय तत्पर हे उसी तरह इस जंग को  बिना जनसहयोग से नहीं लड़ा जा सकता है। यही वजह है  कि समाज के हर वर्ग को आगे आकर अपनी जिम्मेदारी को समझ कर आगे आना ।

आज एक और देखा जाए तो लॉकडाउन मे आमजन जिस तरह घरो मे केद रहे अपने व्यापार प्रतिष्ठानो को छोड़कर यही पुलिस प्रशासन हे जो 24 घंटे हर गली मोहल्ले चोरोहों पे ड्यूटी पर तेनात पुलिसकर्मी आमजन की सुरक्षा के साथ सामाजिक सरोकार की अपनी जिम्मेदारी को मेरी देश सुरक्षा के रुप में निभाई है विभाग द्वारा जारी हर निर्देशों की पालना आमजन को करनी होगी।

पुलिस कमिश्नरेट टीम ने सामाजिक सरोकारों की दिशा में कार्य करते हुए गर्भवती महिलाओं, बच्चो ,बुजुर्गो जरूरतमंदों की घर घर जाकर उनकी कुशलक्षेम पूछी वही यातायात व्यवस्था मे जगह जगह नाकाबंदी कर आमजन को सुरक्षा के साथ आपराधिक घटनाओ के नियंत्रण मे अहम भूमिका निभाई है।

प्रवासियों के आने के बाद कोरोना संक्रमण के मामले बड़े है पुलिस विभाग के आलाधिकारी  पुलिस कर्मियों को संक्रमण से बचाने के लिए गंभीर है । कोरोना संकट से बचाने के लिए पुलिस कर्मियों को रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काढ़ा व जूस समय समय पर पुलिसकर्मियो को उपलब्ध कराकर पुलिस अधिकारियों का भी सहयोग मिला है।  पुलिस ने कोरोना संक्रमण को रोकने में सबसे अहम भूमिका निभा रहे है ।

महिलाएं माहवारी स्वच्छता के प्रति जागरूक रहें- राहुल प्रकाश

जयपुर में 22 मई से शुरू हुये माहवारी स्वच्छता सप्ताह अभियान के समापन के तहत गुरुवार को अन्तर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस के अवसर पर सहकार मार्ग स्थित भोजपुरी कच्ची बस्ती में चार सौ जरूरतमंद महिलाओं एवं बच्चियों को निःशुल्क सेनेटरी पेड, मास्क एवं हैंडवाश के लिए साबुन बांटे। अभियान के दौरान अब तक बीस हजार सैनेटरी पेड एवं दस हजार मास्क एवं तीन हजार हैंडवाश साबुन का वितरण किया गया है।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त यातायात राहुल प्रकाश ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य मातृशक्ति को सम्मान देना है जिसके कारण मानव जाति की उत्पति हुयी है,मानव जाति जीवित है और प्रगति कर रही है। ’माहवारी एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, महिलाऐं माहवारी से सम्बंधित स्वच्छता के लिए जागरूक हों, इसकी बात करने से झिझकें नहीं इस संबंध में कोई परेशानी हो तो चिकित्सक से सलाह लें।

राहुल प्रकाश ने कहा कि गुरुवार के कार्यक्रम में यातायात महिला पुलिसकर्मी प्रकाश द्वारा स्वयं के तैयार किये गए मास्क का भी वितरण किया गया। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त यातायात उत्तर, दक्षिण सतवीर सिंह, ललित किशोर शर्मा, यातायात शिक्षा के निरीक्षक श्रीपाल, संजीव चौहान, एसआई इंद्रा अहलावत के साथ टीम ने सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कराते हुए किया सैनिटरी पेड और मास्क के साथ हैंड वाश के लिए साबुन एवं सेनेटाइजर का वितरण किया गया।

निर्भया स्क्वाॅड टीम ने महिलाओं एवं बच्चियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया

अन्तर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस पर गुरुवार को पुलिस कमिश्नरेट की निर्भया स्क्वाॅड टीम ने भी जरूरतमंद महिलाओं एवं बच्चियों को सेनेटरी पेड, मास्क वितरित कर जागरूक किया।
अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त एवं निर्भया स्क्वाॅड टीम की नोडल अधिकारी सुनीता मीना ने बताया कि टीम ने सामाजिक सरोकारों की दिशा में कार्य करते हुये कर्फ्यू ग्रस्त क्षे़त्रों में महिलाओं एवं बच्चियों को स्वच्छता के प्रति बैनर एवं पोस्टर तथा स्लोगन लिखित पट्टियों के माध्यम से जागरूक किया। जयपुर की प्रवीणलता संस्थान के सहयोग से जागरूक कर सेनेटरी पेड व मास्क का वितरण किया गया।

 गर्भवती महिला को पहुंचाया अस्पताल

सामाजिक सरोकारों की दिशा में कार्य करते हुए तत्परता के साथ नाहरी का नाका शास्त्री नगर निवासी गर्भवती महिला आशातारा को अस्पताल पहुंचाया। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त एवं निर्भया स्कवाड टीम की नोडल अधिकारी सुनीता मीना ने बताया कि बुधवार रात को रईसुद्दीन नाम के व्यक्ति का फोन आया कि उसकी पत्नी गर्भवती है और परेशान हो रही है।

अस्पताल जाने के लिए कोई साधन भी उपलब्ध नहीं है। इस पर उन्होंने तत्काल जनाना अस्पताल आने के लिए वाहन उपलब्ध करवाया। इसके साथ ही स्वयं भी निर्भया टीम के साथ जनाना अस्पताल पहुंची।अस्पताल में महिला को भर्ती करवाकर इलाज शुरू करवाया।इसके पश्चात गुरुवार को महिला ने पुत्री को जन्म दिया।

गर्भवती के पति एवं परिवारजनों ने निर्भया टीम को संकट के समय मदद करने के लिए धन्यवाद दिया।  निर्भया टीम ने अपने जागरूकता कार्यक्रम के तहत गर्भवती महिलाओं के घर घर जाकर उनकी कुशलक्षेम पूछी थी उस दौरान टीम ने अपने फोन नम्बर भी दिये थे। इन्हीं फोन नंबरों पर महिला के पति ने फोन किया था।

About author

Your email address will not be published. Required fields are marked *